जाने PFMS क्या है और भारत सरकार इसका प्रयोग कैसे करती है

जाने PFMS क्या है और भारत सरकार इसका प्रयोग कैसे करती है

PFMS की शुरुआत 2016 में भारत सरकार के द्वारा किया गया था। वही इसमे Finance Ministry और Planning Commission दोनों ही साथ मे मिलकर काम करते हैं।

PFMS की शुरुआत 2016 में भारत सरकार के द्वारा किया गया था। वही इसमे Finance Ministry और Planning Commission दोनों ही साथ मे मिलकर काम करते हैं। 

इसके अलावा PFMS से पहले धन राशि को सीधे Direct Benefit Transfer System के माध्यम से यूज़र्स को धन राशि दिया जाता था, जिसकी शुरुआत साल 2013 में हुआ था।

इसके अलावा PFMS से पहले धन राशि को सीधे Direct Benefit Transfer System के माध्यम से यूज़र्स को धन राशि दिया जाता था, जिसकी शुरुआत साल 2013 में हुआ था।

दरअसल में PFMS एक ऐसा सिस्टम है जिसकी मदद से यूज़र्स सरकार के द्वारा दी जा रही Subsidy और इस से जुड़ी अन्य धन लाभ को सीधे यूज़र्स के बैंक खाते में डाला जाता हैं।

दरअसल में PFMS एक ऐसा सिस्टम है जिसकी मदद से यूज़र्स सरकार के द्वारा दी जा रही Subsidy और इस से जुड़ी अन्य धन लाभ को सीधे यूज़र्स के बैंक खाते में डाला जाता हैं।

भारतीय सरकार की तरफ से सबसे बेहतIरीन कदम है ताकि इसकी मदद से बीच मे होने वाली धोखा-धड़ी और भ्रष्टाचार जैसे मामलों को रोका जा सके और यूज़र्स को इस सब्सडी और मिलने वाले लाभों का पूरा फायदा मिल सके। PFMS एक तरह का आटोमेटिक सिस्टम होता हैं।

जो कि बिना किसी के दखल अंदाजी के केवल एक क्लिक से सभी यूज़र्स के Bank Accounts में लाखो रुपयों भेजा जाता हैं।